Last Update : 27 07 2017 09:26:04 PM

दिल्ली विश्वविद्यालय में लड़कियों के साथ हॉस्टल फीस में भेदभाव

दिल्ली यूनिवर्सिटी के हिंदू कॉलेज में लड़कियों और लड़कों के हॉस्टल फीस के अलावा अन्य नियमों में भी लड़कियों के साथ भेदभावपूर्ण बर्ताव किया जा रहा है...

दिल्ली। दिल्ली महिला आयोग ने दिल्ली यूनिवर्सिटी के हिंदू कॉलेज की प्रिंसिपल को समन जारी कर 2 अगस्त को आयोग में आने के लिए कहा है। शिक्षण संस्थानों में लड़कियों के लिए समान अधिकार को लेकर चलाये अभियान 'पिंजरा तोड़' के सदस्यों ने आयोग की चैयरपर्सन स्वाति जयहिंद से मिलकर हिंदू कॉलेज में लड़कियों के हॉस्टल की फीस लड़कों के हॉस्टल की फीस से ज्यादा लेने की शिकायत की थी, जिस पर आयोग ने यह समन जारी किया है।

'पिंजरा तोड़' अभियान के सदस्यों ने आयोग की चेयरपर्सन को बताया कि हिंदू कॉलेज में 22 जून, 2017 को गर्ल्स हॉस्टल बंद करने के लिए नोटिस भी लगाया था। लेकिन अब गर्ल्स हॉस्टल की फीस बढ़ाकर हॉस्टल शुरू किया जा रहा है, जबकि आयोग ने कॉलेज को एक समान फीस रखने के लिए कहा था।

इसके अलावा हिंदू कॉलेज में लड़कियों और लड़कों के हॉस्टल फीस के अलावा अन्य नियमों में भी लड़कियों के साथ भेदभावपूर्ण बर्ताव किया जा रहा है।

आयोग ने प्रिंसिपल को समन जारी कर लड़कियों व लड़कों के हॉस्टल की फीस और उनके नियमों की डिटेल्स साथ लाने के लिए कहा है। कॉलेज की प्रिंसिपल से यह भी पूछा गया है कि कॉलेज ने लड़के व लड़कियों के हॉस्टल की फीस समान करने के लिए क्या क्या कदम उठाये।

इसके अलावा स्वाति मालीवाल ने यूजीसी के चेयरपर्सन को पत्र लिखकर दिल्ली की कई यूनिवर्सिटीज व कॉलेजों में गर्ल्स हॉस्टल के निर्माण में ग्रांट को लेकर हो रही देरी और शिक्षण संस्थानों में लड़के-लड़कियों के लिए अलग-अलग नियमों को लेकर कई मुद्दों पर बात करने के लिए समय मांगा है। इसके अलावा हिन्दू कॉलेज में गर्ल्स हॉस्टल के लिए फंड न देने के मुद्दे पर भी वो यूजीसी से बात करेंगी।

जनपक्षधर पत्रकारिता को सक्षम और स्वतंत्र बनाने के लिए आर्थिक सहयोग दें। जनज्वार किसी भी ऐसे स्रोत से आर्थिक मदद नहीं लेता जो संपादकीय स्वतंत्रता को बाधित करे।
Posted On : 27 07 2017 08:40:22 PM

कैंपस