Last Update : 25 04 2018 01:33:25 PM

आॅनर किलिंग : रिश्तेदार से शादी से किया इंकार तो पिता ने भाई और बेटे के साथ मिलकर बेटी की कर दी हत्या

डराने-धमकाने के बाद भी जब सना शादी लिए राजी नहीं हुई तो गुलाम मुस्तफा ने अपने बेटे अदनान मुस्तफा और भाई मजहर इकबाल के साथ मिलकर उसे मौत के घाट उतार दिया...

समाज 21वीं सदी में जी रही है, मगर आज भी अपने निर्णय खुद लेने का हक उसे नहीं है। हालांकि कानूनन उसके अपने अधिकार हैं, जिसकी दलीलें सारी सरकारें देती रहती हैं। पुरुष प्रधान समाज में जहां एक मर्द कुछ भी कर गुजर के भी मूंछें ऐंठकर शान से जीता है, वहीं लड़की को उतनी ही मनमानी करने का हक है जितने तक घरवालों की नाक नीची न हो, यानी उनका झूठा घमंड न टूटे।

अपनी पसंद का जीवनसाथी चुनने पर आॅनर किलिंग का शिकार तक हो जाती है। एक बाप ही अपनी बेटी को मौत के घाट उतार देता है ऐसे मामलों में। ऐसे ही आॅनर किलिंग की शिकार हुई 26 साल की सना, जिसे रिश्तेदार से शादी से इंकार करने पर उसके पिता, भाई और चाचा ने ही जान से मार डाला।

जियो न्यूज के हवाले से आई एक खबर के मुताबिक पाकिस्तान के पंजाब राज्य में 26 वर्षीय सना चीमा को उसके परिजनों से इसलिए मार दिया, क्योंकि उसने पिता के सामने रिश्तेदार से शादी करने से मना करने की हिम्मत की थी। इटालियन—पाकिस्तानी सना चीमा के चाचाऔर पिता ने इस कुकृत्य को अंजाम दिया।

शुरुआती जांच के बाद पुलिस ने बताया कि सना चीमा के परिजनों ने पहले तो उसकी मौत को दुर्घटना बताने की कोशिश की, मगर जब सोशल मीडिया पर सना चीमा मर्डर के मुद्दे ने तूल पकड़ा तो पुलिस ने हरकत में आकर छानबीन शुरू की। परिजनों ने सना चीमा की बॉडी को वेस्ट मनगोवाल राज्य के गुजरात इलाके में दफन भी कर दिया था, ताकि कोई सवाल न उठें।

जांच में सामने आया कि सना के पिता गुलाम मुस्तफा उसकी शादी अपने एक रिश्तेदार से करना चाहते थे, मगर सना चीमा इटली में शादी करना चाहती थी। डराने-धमकाने के बाद भी जब सना शादी लिए राजी नहीं हुई तो गुलाम मुस्तफा ने अपने बेटे अदनान मुस्तफा और भाई मजहर इकबाल के साथ मिलकर उसे मौत के घाट उतार दिया।

हत्या के बाद जब सना चीमा मर्डर मामले ने तूल पकड़ा तो ये तीनों फरार हो गए। पुलिस तीनों के खिलाफ हत्या का केस दर्ज कर मामले की जांच कर रही है।

भारत के साथ—साथ पाकिस्तान में भी आॅनर किलिंग की घटनाएं काफी ज्यादा सामने आती हैं।  2016 में 28 साल की ब्रिटिश मूल की सामिया शाहिद भी आॅनर की शिकार हुई थी, मामले ने जब सोशल मीडिया पर तूल पकड़ा तो पुलिस हरकत में आई थी।

इसी तरह सोशल मीडिया पर फिल्म स्टारों की तरह प्रसिद्धि के शिखर को छूने वाली कंदील बलोच की उसके भाई ने हत्या कर दी थी। पाकिस्तानी मानवाधिकार आयोग द्वारा उपलब्ध कराए गए आंकड़े के मुताबिक इस साल 1 अप्रैल तक पाकिस्तान में 50 ऑनर किलिंग के मामले सामने आए हैं।

ये तो वो संख्या है जोकि सोशल मीडिया के बढ़ते हस्तक्षेप के कारण सामने आ पाई हैं, पता नहीं इससे कहीं ज्यादा तादाद में मामले दबा दिए जाते हैं। वर्ष 2017 में पाकिस्तान में 460 आॅनर किलिंग के मामले सामने आए थे।

जनपक्षधर पत्रकारिता को सक्षम और स्वतंत्र बनाने के लिए आर्थिक सहयोग दें। जनज्वार किसी भी ऐसे स्रोत से आर्थिक मदद नहीं लेता जो संपादकीय स्वतंत्रता को बाधित करे।
Posted On : 25 04 2018 01:33:25 PM

समाज