Last Update : 28 12 2017 09:34:54 PM

देर तक सोई रही बीवी तो शौहर ने दे दिया तलाक

गुलअफशा कहती हैं, मैंने कासिम ने अपनी मर्जी से निकाह किया था। इस बात से मेरे घर वाले मुझसे पहले से ही नाराज हैं, अब कासिम ने मुझे तलाक दे दिया है तो मैं कहीं की नहीं रही...

एक तरफ तीन तलाक पर केंद्र में राजनीतिक सियासत गर्म है, मगर इसी सब के बीच कुछ ऐसे मामले में भी लगातार सुर्खियों में रहते हैं जो सोचने को मजबूर करते हैं कि क्या किसी नियम—कानून के बनने से मुस्लिम औरतों पर होने वाले जुल्मों और अचानक और किसी भी बात पर दिए जाने वाले तलाक के मामलों में कमी आ पाएगी।

सरकार कह रही है कि मुस्लिम महिलाओं को हक दिलाने के लिए ट्रिपल तलाक बिल संसद में पास किया जाएगा।

ताजा मामला उत्तर प्रदेश के रामपुर स्थित अजीम नगर थाना क्षेत्र के सैदनगर का है, जहां एक मुस्लिम युवा कासिम ने अपनी बीवी को इसलिए तलाक दे दिया क्योंकि वह देर तक सोई रह गई थी।

गौरतलब है कि आज ट्रिपल तलाक पर लोकसभा में बिल पेश किया जा रहा है जिस पर बहस जारी है। वहीं सुप्रीम कोर्ट ने 22 अगस्त को त्वरित तीन तलाक को पूर्ण प्रतिबंधित करने का आदेश पारित किया था, कहा था कि जो इसे नहीं मानेगा, उस पर सख्त कार्रवाई की जाएगी। मगर देश में भी अदालत के इस फैसले का दिल से स्वागत किया गया और माना गया कि अदालत का यह फैसला मुस्लिम महिलाओं के वैवाहिक रिश्ते में क्रांतिकारी बदलाव लाएगा। अब मुस्लिम महिलाओं को किसी भी वक्त तलाकशुदा होने की 'अनहोनी' के मानसिक दबाव में नहीं जीना पड़ेगा।

सुप्रीम कोर्ट के इस आदेश की धज्जियां उड़ती खुलेआम देखी जा सकती हैं। सितंबर में कोर्ट के फैसले के एक महीने के भीतर ही 19 सितंबर को राजस्थान में पति द्वारा पत्नी को मोबाइल पर तलाक देने की घटना सामने आई थी। इसके अलावा भी और कई फोन, वाट्सअप, इंटरनेट पर तलाक के मामले सामने आ चुके हैं। बिहार के सीतामढ़ी जनपद के नानपुर प्रखंड के गाव धनकौल की रफत तरन्नुम को उसके शौहर आरिफ द्वारा इंटरनेट कॉल से तलाक देने का मामला सामने आया तो अब सिर्फ बीबी के देर तक सोने से शौहर इतना खफा हो गया कि उसने तलाक दे दिया।

रामपुर के अजीम नगर थाना क्षेत्र के सैदनगर में रहने वाले युवा ने सुबह देर से उठी बीवी को न सिर्फ तलाक दिया, बल्कि तलाक देने के बाद उसे घर से निकालकर ताला जड़ दिया और खुद फरार हो गया। जब पीड़िता इस मामले को लेकर पुलिस के पास गई तो पुलिस ने ताला तोड़ा और पीड़ित महिला को घर के अंदर पहुंचाया।

पीड़ित महिला गुलअफशा ने पुलिस को बताया कि उसका पति कासिम उसके साथ हाथापाई करता था। 25 दिसंबर को भी जब सुबह दोनों में किसी बात को लेकर लड़ाई हुई तो उसने गुलअफशा को बुरी तरह पीटा। नौबत यहां तक पहुंच गई कि पड़ोसियों को बीचबचाव करवाना पड़ा। गुलअफशा कहती है कि पति की मार से उसकी हालत बहुत बुरी हो गई थी।

उसका बदन बुरी तरह दर्द कर रहा था। 25 दिसंबर की रात वह बिल्कुल भी सो नहीं पाई थी इसलिए 26 की सुबह उसकी आंख नहीं खुल पाई। जब वह सुबह नहीं उठ पाई तो कासिम ने आसमान सिर पर उठा लिया। इतना ही नहीं उसने तीन तलाक के बाद गुलअफशा को घर से बेघर कर ताला जड़ दिया और खुद वहां से कहीं और चला गया।

गुलअफशा कहती हैं, मैंने कासिम ने अपनी मर्जी से निकाह किया था। इस बात से मेरे घर वाले मुझसे पहले से ही नाराज हैं, अब कासिम ने मुझे तलाक दे दिया है तो मैं कहीं की नहीं रही।

गौरतलब है कि छह माह पहले अजीमनगर क्षेत्र के गांव नगलिया आकिल की रहने वाली गुलअफशा ने कासिम अली से लव मैरिज की थी। कहने को तो यह प्रेम विवाह था, पर शादी के कुछ दिनों बाद ही इस जोड़े में अकसर विवाद होता रहता था। यही नहीं जब कासिम ने गुलअफशा को तलाक दिया, उससे पांच दिन पहले भी वह उसे घर से निकाल चुका था।

जनपक्षधर पत्रकारिता को सक्षम और स्वतंत्र बनाने के लिए आर्थिक सहयोग दें। जनज्वार किसी भी ऐसे स्रोत से आर्थिक मदद नहीं लेता जो संपादकीय स्वतंत्रता को बाधित करे।
Posted On : 28 12 2017 04:36:17 PM

विमर्श