Last Update : 11 08 2017 10:16:19 AM

विकास बराला के पक्ष में शुरू हुआ पेड कैंपेन

आज रात चंडीगढ़ में रात 9 बजे लड़कियां करेंगी 'मेरी सड़क, मेरी आजादी' मार्च तो विकास बराला की सीबीआई जांच कराने की जनहित याचिका होगी चंडीगढ़ से दाखिल

जनज्वार, हरियाणा। एक तरफ जहां विकास बराला को बचाने के लिए मीडिया में फर्जी और पेड खबरें लगवाई जा रही हैं तो वहीं दूसरी तरफ सोशल मीडिया पर वर्णिका कुंडू और उनके परिवार का मान—मर्दन कर बराला को मासूम और महान बनाने की लगातार कोशिश चल रही है। इस कोशिश की जो संचालक शक्ति है, वह है भाजपा और उसके लग्गू—भग्गू संगठन।

इसके अलावा हरियाणा और देश इस अपराधी या कहें आरोपी के खिलाफ किसी भी तरह की रियायत देने के मूड में नहीं है। खबर है कि आज चंडीगढ़ हाईकोर्ट में कोई वकील वर्णिका कुंडू मामले में जनहित याचिका दाखिल कर सीबीआई जांच की मांग करने वाला है।

अपहरण और छेड़खानी के आरोपी विकास बराला को बचाने के लिए भाजपाई करीब—करीब वही तरकीब आजमा रहे हैं जिसके बूते भाजपा विधानसभा और लोकसभा चुनावों में अव्वल रही थी।

चंडीगढ़ की वर्णिका कुंडू की कार का पीछा करने वाले विकास बराला की मासूमियत को बखान करता कोई एक मैसेज कहीं से आता है और फिर उसको सैकड़ों लोग शेयर करने लगते हैं। शेयर करने वालों में 90 भाजपा समर्थक व उनके लग्गू—भग्गू संगठन हैं। यह लोग इस कदर मर्दवादी और अंधभक्त हैं कि वह अपराध को भी जाति और पार्टी से इतर नहीं देख पाते और बिना किसी किंतु—परंतु के धड़ाधड़ शेयर करने लगते हैं।

प्वाइंट दर प्वाइंट जानिए कि कैसे चल रहा है विकास बराला को बचाने का समानांतर खेल। लेकिन पीड़िता के खिलाफ चल रही इस साजिश के खिलाफ न तो सरकार और न ही कोई सरकारी संस्था एक अपराधी के पक्ष में प्रसारित हो रहे इस गंदे अभियान को रोकने की जरूरत समझ रही है।

1. कल हरियाणा के छोटे—बड़े सभी अखबारों में एक सी हेडलाइन से खबर छपी कि 'कहीं वास्तव में मीडिया ट्रायल का शिकार नहीं हुआ है विकास बराला।' हरियाणा से निकलने वाले दर्ज दर्जनों छोटे—बड़े अखबारों की हैडिंग देख ऐसा लगता है कि संपादकों ने नहीं, शीर्षक विकास बराला या उनके पिता और भाजपा नेता सुभाष बराला ने खुद लगाया हो।

2. जिस दिन सुभाष बराला से प्रदेशाध्यक्ष पद से त्यागपत्र की मांग की गई उसी दिन से वाट्स्अप एक पोस्ट हर जगह फैलाई गई जिस पर लिखा था — 'आई सपोर्ट सुभाष बराला।' - सुभाष बराला की फोटो वाली डीपी लगाने की अपील भी जारी की जा रही है।

3. कुंडू परिवार की बहनों के चरित्र हनन को लेकर उसके फेसबुक पेज से फोटो को लेकर भ्रामक प्रचार व यहां तक कहा गया कि विकास बराला व वर्णिका कुण्डू पहले भी मित्र थे। झूठा साबित होने के बावजूद इस फोटो को लगातार भेजा जा रहा है।

4. दस से बीस लाईन का एक सन्देश जो सोशल मिडिया पर कल से फैलाया गया कि वर्णिका कुंडू के घृणित पेशे डीजे से है। वहीं वर्णिका की पत्रकार बहन को इसलिए गालियां दी जा रही हैं कि वह कारगिल शहीद बेटी गुलमोहर का समर्थन करती है। परिवार को कांग्रेस के नेताओं से जुड़ा बताकर इसे भाजपा के खिलाफ साजिश कहा जा रहा है।

5. जब से दुबारा विकास बराला की गिरफ्तारी हुई है तब से एक फेसबुक पेज 'जस्टिस फॉर विकास बराला' बनाया गया है जिस पर लिखा है कि विकास बराला को सपोर्ट करें।

6. हर पोस्ट में सुभाष बराला के समर्थक फूट—फूटकर रोते नजर आते है कि हमेशा लड़के की गलती नहीं होती लड़कियां भी गलत होती हैं। वो पुराना रोहतक की बहादुर बहनों वाला मामला बार बार उठाते हैं।

Posted On : 11 08 2017 10:01:38 AM

जनज्वार विशेष