Last Update : 13 01 2018 06:17:04 PM

पुणे में पीएनजी ज्वेलर्स ने की पत्रकारों से बदतमीजी

पहले भेजा इंविटेशन कार्ड, फिर नहीं करने दिया उद्घाटन समारोह में प्रवेश, बाउंसरों को भेजा पत्रकारों का प्रवेश रोकने को....

पुणे से रामदास तांबे की रिपोर्ट

हर दिन किसी इवेंट या उद्घाटन होते रहते हैं, जिनकी खबरें मीडिया में रहती हैं और मीडियाकर्मी ऐसे कार्यक्रमों का हिस्सा बनते हैं, मगर यह कोई बड़ी बात नहीं है। वैसे ही पुणे के पिम्परी इलाके में पीएनजी ज्वेलर्स ने उद्घाटन समारोह आयोजित किया था, जिसमें मीडिया वालों को बाकायदा इंविटेशनल कार्ड देकर बुलाया गया था, मगर जब मीडिया वाले वहां पहुंचे तो उन्हें अंदर आने नहीं दिया गया। गौरतलब है कि इस समारोह में फिल्म अभिनेता सलमान खान मुख्य अतिथि थे।

जब कुछ पत्रकारों ने प्रवेश न करने देने पर कहा कि हमें इंविटेशन कार्ड देकर बुलाया गया है तो पीएनजी ज्वैलर्स प्रबंधन ने बाकायदा बाउंसरों को उन्हें हटाने के लिए भेजा गया। पत्रकार जगत में इस घटना की काफी निंदा हो रही है। भुक्तभोगी पत्रकारों का कहना है कि सिर्फ पीएनजी ज्वेलर्स ने अपने प्रचार के लिए पत्रकारों को निमंत्रण पत्र दिया था।

बड़ा सवाल यह है कि जब पीएनजी ज्वैलर्स प्रबंधन का उद्देश्य पत्रकारों को समारोह में शामिल करवाना नहीं था तो आखिर उन्हें निमंत्रण पत्र क्यों भेजे गए। क्या इसके पीछे वजह सिर्फ अपने शोरूम का प्रचार—प्रसार करना नहीं था।

दूसरी तरफ जैसे ही लोगों को वहां सिनेस्टार सलमान खान के आने की खबर मिली, भीड़ वहां उन्हें देखने के लिए इकट्ठी हो गई। उन्हें कार्यक्रम में 5 बजे आना था, जबकि वे रात के 9 बजे पहुंचे। यहां पर जरूर बाउंसरों के माध्यम से सुरक्षा व्यवस्था को सुव्यवस्थित रखना था, मगर यह काम पुलिस वाले करते दिखे। पुलिस अधिकारी डीसीपी और एसीपी सलमान खान की चहेती भीड़ काबू कर रही थी। जबकि पीएनजी ज्वेलर्स की सुरक्षा व्यवस्था सिर्फ कहने मात्र को थी।

जनपक्षधर पत्रकारिता को सक्षम और स्वतंत्र बनाने के लिए आर्थिक सहयोग दें। जनज्वार किसी भी ऐसे स्रोत से आर्थिक मदद नहीं लेता जो संपादकीय स्वतंत्रता को बाधित करे।
Posted On : 13 01 2018 12:07:12 PM

समाज