Last Update : 12 09 2017 10:23:36 AM

बजरंगदल नेता महीनों करता रहा दलित युवती का बलात्कार

मुकदमा दर्ज होने के बाद भी नहीं हो पाई गिरफ्तारी, बजरंगी नेता को बचाने में जुट गए हैं नगर के कई भाजपा समर्थित नामचीन लोग, अधिकारियों ने कहा आरोपी है फरार, जल्दी होगी गिरफ्तारी

जनज्वार, रामनगर। दिन के उजाले में संस्कृति व संस्कार की लोकलुभावन बातें करने वाले उत्तराखंड बजरंग दल के नेता अंकित मित्तल ने अपने ही प्रतिष्ठान में काम करने वाली एक दलित युवती को शादी का झांसा देकर न केवल उसके साथ बलात्कार किया, बल्कि बाद में अपनी असलियत सामने आने पर उसे जान से मारने की ही धमकी देनी शुरू कर दी। यह मामला 10 सितंबर को तब प्रकाश में आया जब युवती ने बजरंग दल नेता के खिलाफ मुकदमा दर्ज कराया।

इतना ही नहीं इस युवक ने युवती की जिन्दगी से खिलवाड़ करते हुये उसका तीन माह का गर्भ भी गिरवा डाला। गरीब परिवार की इस युवती ने जब मदद के लिये पुलिस की गुहार लगाने गई तो वहां भी उसे दुत्कार मिली, लेकिन युवती ने जब साहस के साथ पुलिस के उच्चाधिकारियों के सामने अपनी आपबीती सुनाई तो मजबूरन पुलिस को आरोपी के खिलाफ मुकदमा दर्ज करना पड़ा।

पुलिस ने बजरंग दल नेता अंकित मित्तल के खिलाफ 10 सितंबर को भारतीय दंड संहिता की धारा 313, 376, 506 व अनुसूचित जाति-जनजाति अत्याचार निवारण अधिनियम के तहत मुकदमा तो दर्ज कर लिया है, लेकिन आरोपी के विश्व हिंदू परिषद व बजरंग दल से जुड़े होने के कारण उसकी ओर से कुछ प्रभावशाली लोग इस मामले के रफा-दफा करने का प्रयास भी कर रहे हैं।

बजरंग दल नेता अंकित मित्तल की फेसबुक प्रोफाइल अंचित मित्तल के नाम से है, जिसमें दावा किया गया है कि वह रामनगर का बजरंग दल नगर अध्यक्ष है। उसके दोस्त बताते हैं कि उसका असली नाम अंकित मित्तल है, लेकिन वह फेसबुक प्रोफाइल अंचित मित्तल के नाम से चलाता है। उसने कई सारी पोस्टों में अपने को प्रधानमंत्री मोदी का प्रबल समर्थक बताते हुए उनकी तस्वीर शेयर की है। हालांकि रामनगर के बजरंगदल कार्यकर्ताओं का कहना है कि वह कुछ महीने पहले था अध्यक्ष, अब नहीं है।

गौरतलब है कि यह घटना उत्तराखण्ड के नैनीताल जिले के रामनगर की है। युवती की बदनसीबी की कहानी बीते साल की 18 जुलाई से शुरू होती है, जब एक गरीब परिवार की एक दलित युवती को अपने पिता के देहान्त के बाद अपने भाई बहनों की पढ़ाई व परिवार की अन्य जरूरतें पूरी करने के लिये घर की दहलीज लांघकर घर के करीब ही पवन मित्तल नामक व्यापारी की एक आटा मिल पर काम करने के लिये मजबूर होना पड़ा।

आटा मिल पर आटा, दलिया, बेसन आदि की पैकिंग काम करने वाली इस युवती पर पहले ही दिन जब मिल स्वामी के कामुक बेटे और बजरंग दल नेता अंकित मित्तल उर्फ अंचित मित्तल की नजर पड़ी तो उसने युवती की गरीबी का लाभ उठाते हुये उसका शिकार करने की योजना का खाका तैयार कर लिया।

कुछ दिन युवती के आगे-पीछे मंडराने के बाद जब युवती ने अंकित को भाव नहीं दिया तो अंकित ने अपने प्रभाव व हनक का इस्तेमाल कर युवती को झांसे में लेने का प्रयास शुरू कर दिया। इस वर्ष 10 फरवरी, 2017 को जब इसके परिवार के अन्य लोग बाहर गये थे तो अंकित ने अपना शैतानी रुप दिखाने की ठान ली। जिसके बाद अंकित ने योजनानुसार युवती को ओवर टाइम के बहाने रात्रि आठ बजे तक के लिये रोक लिया, जबकि उसकी छुटटी का समय शाम छः बजे निर्धारित था।

आठ बजे अंकित ने युवती को किसी काम के बहाने मिल के ऊपर ही बने अपने आवास पर बुला लिया। जहां पर अपने कमरे में अंकित ने पहले तो प्रेम का जाल फेंककर युवती को भावनात्मक रुप से ब्लैकमेल करने का प्रयास किया, लेकिन युवती के न मानने पर अंकित ने कमरा बंद कर उसका रेप कर दिया।

जेल न जाना पड़े और मौज-मस्ती का सिलसिला बना रहे इसके लिये अंकित युवती को लगातार शादी की दिलासा देते रहा। अंकित की अय्याशियों का यह सिलसिला रामनगर से लेकर नैनीताल तक के होटलों में चलता रहा।

इस बीच युवती गर्भवती हो गई। एक बार फिर युवती ने शादी के लिये जोर डाला तो शातिर दिमाग अंकित ने अपने कुकर्म छिपाने की नियत से युवती की जान से खिलवाड़ करते हुये एक झोलाछाप से उसका गर्भपात तक करवा डाला। गर्भपात के बाद अंकित का हौसला इतना बढ़ गया कि शादी के नाम पर पहले दिलासा देने वाला अंकित अब शादी का जिक्र करने मात्र से ही युवती को धमकाने लगा।

इतना ही नहीं अंकित ने युवती को नीच जाति का बताते हुये उसे जातिगत गालियों से अपमानित भी करना शुरू कर दिया। पुलिस से शिकायत करने पर अंकित ने अपनी नेतागिरी का रौब गांठते हुये युवती के परिवार को मरवाने से लेकर युवती को झूठे मुकदमे में फंसवा देने सहित सभी हथकंडे अपनाकर युवती का मुंह बंद करने की कोशिश की। लेकिन युवती अंकित के सामने हिम्मत न हारी।

Posted On : 12 09 2017 10:23:36 AM

समाज