Last Update : 26 12 2017 10:26:54 PM

अभिनेता से 'नेता' बनेंगे सुपरस्टार रजनीकांत!

सिस्टम बदलने को लेकर बात करते रहते हैं दक्षिए के सुप्रसिद्ध अभिनेता रजनीकांत, कौन सी पार्टी करेंगे ज्वाइन इसे लेकर कयास जारी...

दक्षिण और हिंदी फिल्मों के ख्यात अभिनेता रजनीकांत अब जीवन की दूसरी पारी नेता के बतौर निभाने का ऐलान बहुत जल्द कर सकते हैं। यह चर्चाएं इसलिए तेज हैं क्योंकि आज उन्होंने मीडिया से बातचीत में कहा कि वे राजनीति में आएंगे या नहीं इसका निर्णय वे इस साल के अंतिम दिन यानी 31 दिसंबर को करेंगे।

रजनीकांत से पहले प्रसिद्ध अभिनेता कमल हासन के राजनीति में कदम रखने को लेकर लगातार मीडिया में खबरें छाई रही थीं। हालांकि भारत में अनेक ऐसे अभिनेता रहे हैं जिन्होंने दूसरी पारी  बतौर नेता खेली। इनमें सदी के सुपरस्टार अमिताभ बच्चन, शत्रुघ्न सिन्हा, राज बब्बर से लेकर विनोद खन्ना, सुनील दत्त समेत अनगिनत अभिनेताओं के नाम शामिल हैं। हालांकि कुछ अभिनेताओं ने नेता के बतौर लंबी पारी खेली, तो कुछ फिर अभिनेता के बतौर फिल्मों में सक्रिय हो गए। 

सुपरस्टार रजनीकांत को लेकर लंबे समय से यह चर्चा बनी हुइ है कि वे जल्द ही राजनीति में शामिल होंगे। हालांकि वो कौन सी पार्टी ज्वाइन करेंगे इसे लेकर भी अटकलें लगातार लगाई जा रही हैं। एआईएडीएमके ने रजनी के राजनीति में एंट्री को उनका लोकतांत्रिक अधिकार बताया है, तो डीएमके अभी उनके आधिकारिक घोषणा का इंतजार करने की बात कह रही है।

कुछ दिन पहले एक समारोह के दौरान रजनीकांत ने कहा था कि मेरा पॉलिटिक्स को लेकर जो भी स्टैंड है, उसकी घोषणा मैं 31 दिसंबर को करूंगा। गौरतलब है कि अक्षय कुमार स्टारर रजनीकांत की फिल्म 2.0 जल्द ही रिलीज होने वाली है और यह बातचीत उन्होंने फिल्म के प्रोमो के दौरान ही कही थी।

गौरतलब है कि रजनीकांत अपनी फिल्मों के माध्यम से भी देश का सिस्टम बदलने का संदेश देते रहते हैं और कई बार मंचों और समारोहों में भी सिस्टम बदलने को लेकर बात करते हैं। तमिलनाडु से उनका खासा लगाव है। एक बार एक बातचीत में उन्होंने कहा भी था कि तमिलनाडु की राजनीति में अच्छे लोग तो हैं, लेकिन राज्य की राजनीति बुरी हालत में है। सिस्टम में कुछ गड़बड़ी है, हमें इसे बदलने की जरूरत है। इससे यह भी कयास लगाए जा रहे हैं कि वे तमिलनाडु में ही अपने राजनीतिक जीवन की शुरुआत करेंगे।

उनके प्रशंसक और चाहने वाले 31 दिसंबर को उनके उस फैसले का इंतजार कर रहे हैं, जब वो बताएंगे कि वे राजनीति ज्वाइन करेंगे या नहीं।

जनपक्षधर पत्रकारिता को सक्षम और स्वतंत्र बनाने के लिए आर्थिक सहयोग दें। जनज्वार किसी भी ऐसे स्रोत से आर्थिक मदद नहीं लेता जो संपादकीय स्वतंत्रता को बाधित करे।
Posted On : 26 12 2017 10:26:54 PM

विविध