Last Update : 01 11 2017 08:48:09 AM

थिएटर आॅफ रेलेवंस का 3 दिवसीय नाट्य उत्सव मुंबई में

मुंबई। “थिएटर ऑफ़ रेलेवंस" नाट्य दर्शन के 25 वर्ष पूरे होने के अवसर पर मुंबई में 15, 16, 17 नवम्बर, 2017 को 3 दिवसीय नाट्य उत्सव किया जाएगा। इससे पहले दिल्ली में 25 वर्ष पूर्ण होने के अवसर पर थिएटर आॅफ रेलेवंस अपनी प्रस्तुतियां दे चुका है।

इस अवसर पर प्रसिद्ध नाटक 'गर्भ', 'अनहद नाद –Unheard Sounds of universe' और 'न्याय के भंवर में भंवरी' का मंचन किया जाएगा।

‘थिएटर ऑफ़ रेलेवंस’ रंग सिद्धांत 12 अगस्त, 1992 से जनता के सरोकारों का ‘चिंतन मंच’ बनकर उभरा है और 12 अगस्त, 2017 को इसने ‘रंग दर्शन’ के 25 वर्ष पूर्ण किये हैं। इन 25 वर्षों में ‘थिएटर ऑफ़ रेलेवंस’ ने गली, चौराहों, गांवों, आदिवासियों, कस्बों और महानगरों से होते हुए अपनी वैश्विक उड़ान भरी है और वैश्विक स्वीकार्यता हासिल की है।

नाटक “गर्भ”, 'अनहद नाद –Unheard Sounds of universe' और “न्याय के भंवर में भंवरी” के माध्यम से इंसान को अपने अंतर की आवाज़ सुनाने के लिए 15, 16 और 17 नवम्बर, 2017 को 3 दिवसीय ‘थिएटर ऑफ़ रेलेवंस - नाट्य उत्सव’ का आयोजन हो रहा है।

“गर्भ” मनुष्य के मनुष्य बने रहने का संघर्ष है. यह मानवता को बचाये रखने के लिए मनुष्य द्वारा अपने आसपास बनाये (नस्लवाद,धर्म,जाति,राष्ट्रवाद के) गर्भ को तोड़ता है. इसमें समस्याओं से ग्रसित मनुष्य और विश्व को इंसानियत के लिए, इंसान बनने के लिए उत्प्रेरित करता है, क्योंकि खूबसूरत है ज़िन्दगी!

नाटक 'अनहद नाद - Unheard Sounds of universe' कलात्मक चिंतन है, जो कला और कलाकारों की कलात्मक आवश्यकताओं,कलात्मक मौलिक प्रक्रियाओं को समझने और खंगोलने की प्रक्रिया है।

“न्याय के भंवर में भंवरी” शोषण और दमनकारी पितृसत्ता के खिलाफ़ न्याय, समता और समानता की हुंकार है।

मंजुल भारद्वाज लिखित एवं निर्देशित, अश्विनी नांदेडकर, योगिनी चौक, सायली पावसकर, कोमल खामकर, तुषार म्हस्के अभिनीत प्रसिद्ध नाटक “गर्भ” और “अनहद नाद –अनहर्ड साउंड्स ऑफ़ युनिवर्स” और जानी मानी रंग अभिनेत्री बबली रावत अभिनीत नाटक “न्याय के भंवर में भंवरी” का मंचन इस अवसर पर तीन दिनों तक सुबह 11 बजे शिवाजी मन्दिर, दादर (पश्चिम) मुंबई में होगा!

Posted On : 01 11 2017 08:48:09 AM

संस्कृति