Last Update : 04 01 2018 11:35:56 AM

महिलाओं के लिए सरकार का नए साल का तोहफा 'नारी' पोर्टल

अब हमें अपने अधिकारों के लिए इंटरनेट खंगालना नहीं पड़ेगा, बल्कि एक ही वेबसाइट पर अपने अधिकारों, सुरक्षा और अन्य मसलों से जुड़े हल हमें यहां मिल जाएंगे...

सरकार की तरफ से महिलाओं के लिए एक पोर्टल www.nari.nic.in लांच किया गया है, जिसमें उन्हें खुद के अधिकारों, योजनाओं समेत कई अन्य तरह की जानकारियां मिलेंगी। महिला सुरक्षा के लिए इस पोर्टल को बेहद अहम माना जा रहा है।

'नारी' नाम के पोर्टल का शुंभारंभ महिला बाल विकास मंत्री मेनका गांधी ने 2 जनवरी को किया। इसे सरकार की तरफ से महिलाओं के लिए नए साल का तोहफा कहा जा रहा है। हालांकि सरकार के मुताबिक इस पोर्टल को शुरु करने का मकसर महिलाओं को उनके अधिकारों और महिलाओं के लिए चल रही योजनाओं के बारे में उन्हें बताना है, जिससे औरतों को बहुत फायदा मिलेगा।

इस पोर्टल से उन्हें यह जानकारी मिल सकेगी कि राज्य और केंद्र सरकार की तरफ से औरतों को शिक्षा और आर्थिक मदद के लिए कितनी योजनाएं संचालित की जा रही हैं। साथ ही किसी भी तरह की मुसीबत में फंसी महिलाओं को भी इससे काफी राहत मिलेगी। गौरतलब है कि पीड़ित महिलाओं की मदद के लिए 168 जनपदों में वन स्टाप सेंटर स्थित हैं, जहां पर महिलाओं को सुरक्षा मुहैया कराई जाती है।

इतना ही नहीं महिलाओं को स्वास्थ्य जांच, नौकरी, महिला के नाम पर घर का पंजीकरण कराने में प्राथमिकताओं से जुड़ी जानकारियां, औरतों के निवेश और बचत के सुझाव, कानूनी मदद के लिए संपर्क नंबर भी 'नारी' पोर्टल पर आसानी से मिल जाएंगे।

आज इंटरनेट फ्रेंडली हो चुकी महिलाएं भी इस पोर्टल को काफी अहम मान रही हैं। कामकाजी नितिका कहती हैं कि अब हमें अपने अधिकारों के लिए इंटरनेट खंगालना नहीं पड़ेगा, बल्कि एक ही वेबसाइट पर अपने अधिकारों, सुरक्षा और अन्य मसलों से जुड़े हल हमें यहां मिल जाएंगे।

केंद्रीय महिला एवं बाल विकास मंत्री मेनका गांधी ने 'नारी' पोर्टल को लांच करते हुए जानकारी साझा की कि इसमें 350 से ज्यादा परियोजनाओं का सार और महिलाओं के लिए लाभकारी व महत्वपूर्ण सूचनाएं उपलब्ध कराई गई हैं। इससे महिलाओं और बच्चों के कल्याण के लिए प्रभावकारी नीतियां बनाने व उपाय करने में भी मदद मिलेगी।'

मेनका गांधी ने बताया कि महिला व बाल विकास मंत्रालय की ओर से शुरू की गई 'नारी' पोर्टल एक विशिष्ट पहल है, जिसमें केंद्र व राज्य की सभी विशिष्ट योजनाओं को सूचीबद्ध किया गया है। इस प्लेटफॉर्म पर महिलाओं को उनके जीवन पर प्रभाव डालने वाले मसलों की जानकारी मिलेगी।'

इतना ही नारी पोर्टल पर मंत्रालयों, विभागों और स्वायत्त संस्थाओं की परियोजनाओं के लिंक भी उपलब्ध कराए जाएंगे। यहां ऑनलाइन आवेदन व शिकायतों के निपटारे की जानकारी भी आसानी से उपलब्ध होगी। 'नारी' पर महिलाओं के अच्छे पोषण की जानकारी व स्वास्थ्य जांच की सलाह, प्रमुख रोगों से संबंधित जानकारी के अलावा रोजगार, निवेश व बचत की सलाह आदि की भी जानकारी आॅनलाइन उपलब्ध होगी।

आज जिस तरह महिला अपराधों की बाढ़ आई है उसके लिए भी 'नारी' अहम भूमिका निभाएगी। महिलाओं के खिलाफ अपराधों की सूचना और रिपोर्ट की प्रक्रियाएं भी यहां उपलब्ध होंगी। 'नारी' में महिलाओं के लिए संचालित विभिन्न योजनाओं को सात श्रेणियों— शिक्षा, स्वास्थ्य, रोजगार, आवासन एवं आश्रय, हिंसा रोकथाम और सामाजिक सहायता में विभाजित किया गया है।

जनपक्षधर पत्रकारिता को सक्षम और स्वतंत्र बनाने के लिए आर्थिक सहयोग दें। जनज्वार किसी भी ऐसे स्रोत से आर्थिक मदद नहीं लेता जो संपादकीय स्वतंत्रता को बाधित करे।
Posted On : 04 01 2018 11:35:56 AM

विविध