Last Update : 11 11 2017 09:39:52 AM

भीख मांग रही हल्द्वानी नगर निगम की ब्रांड एम्बेसडर लक्ष्मी

नगर निगम ने उसे अपना ब्रांड एम्बेसडर घोषित कर दिया। नगर आयुक्त हरवीर सिंह ने उसका पढ़ाई लिखाई का खर्चा उठाने का एलान किया। यह भी दावा किया कि इस बच्ची को नगर निगम की ओर से अन्य सुविधायें भी दी जायेंगी...

हल्द्वानी, जनज्वार। हल्द्वानी नगर निगम की ब्रांड एम्बेसडर घोषित की गयी एक बच्ची लक्ष्मी अपनी मां के साथ दर—दर की ठोकर खा रही है। अपनी मां के साथ भीख मांगकर गुजारा करने वाली बच्ची लक्ष्मी को अभी कुछ दिन पहले ही नगर निगम का ब्रांड एम्बेसडर घोषित किया गया था। इसे ब्रांड एम्बेसडर घोषित करने वालों ने सुर्खियां और वाह वाही बटोरी और बाद में इस बच्ची को भुला दिया गया।

रानी देवी बेघर और बेसहारा हैं। उनके साथ उनकी सात साल की बेटी लक्ष्मी भीख मांगकर गुजारा करती है। अभी कुछ दिन पहले सरदार बल्लभ भाई पटेल की जयंती के अवसर स्वच्छता का संदेश भी दिया जा रहा था। इस दौरान सात साल की लक्ष्मी ने मैदान में से केले का छिलका पड़ा देखा और उसे नजदीक के कूड़ेदान में डाल आयी।

स्वयं नगर आयुक्त तथा अपर जिलाधिकारी नैनीताल हरवीर सिंह की नजर इस बच्ची पर गयी। और इस बच्ची की वाह वाही हो गयी। नगर निगम ने उसे अपना ब्रांड एम्बेसडर घोषित कर दिया। नगर आयुक्त हरवीर सिंह ने उसका पढ़ाई लिखाई का खर्चा उठाने का एलान किया। यह भी दावा किया कि इस बच्ची को नगर निगम की ओर से अन्य सुविधायें भी दी जायेंगी।

लेकिन आज की स्थिति उस दिन खिंचवाई गयी तस्वीरों से बिल्कुल उलट है। आज रानी अपनी बेटी के साथ नगर निगम का ही पता पूंछ रही है। जिस नगर निगम की उसकी बेटी ब्रांड एम्बेसडर है उस नगर निगम का उसे पता तक नहीं मालूम है। रानी का कहना है कि उस दिन के बाद किसी भी उसकी और उसकी बच्ची की सुध नहीं ली।

रानी के पति नहीं हैं और वह भीख मांगकर गुजारा करती है। उसका बस यही कहना है कि उसे काम दिया जाये जिससे उसे भीख न मांगनी पड़े और वह अपनी बेटी को एक बेहतर जिंदगी दे सके।

हालांकि एडीएम नैनीताल व नगर निगम के नगर आयुक्त हरवीर सिंह का कहना है कि बच्ची का दाखिला स्कूल में करवा दिया गया है। लेकिन सोचने वाली बात है कि अगर यह बच्ची सड़कों पर भीख मांगेगी तो क्या उसका नगर निगम का ब्रांड एम्बेसडर होना न्यायसंगत होगा।

Posted On : 11 11 2017 09:38:45 AM

समाज