Last Update : 12 05 2018 11:31:43 AM

यूपी में 24 घंटे में हुई दो डकैती की वारदातें और 4 हत्याएं

उत्तर प्रदेश के कासगंज जिले में बेखौफ डकैत वारदात दर वारदात को अंजाम दे रहे हैं। यहां 24 घंटों में दो डकैती की घटनाओं को अंजाम देकर दो महिलाओं समेत चार लोगों की पीट—पीट कर हत्या कर दी गई, जबकि सात लोग गंभीर रूप से घायल हैं...

कासगंज से सौरभ यादव की रिपोर्ट

इससे पूरे कासगंज जिले में दहशत का माहौल है। वहीं सहावर में 10 मई की रात हुए ट्रिपल डकैती हत्याकांड से गुस्साई भीड़ ने शव को सड़क पर रखकर जाम लगा दिया और खुलासे की मांग करने लगे। मौके पर पहुंचे सहावर सीओ समेत मीडिया के साथ भी लोगों ने हाथापाई कर दी। बाद में पुलिस ने हलका बल प्रयोग करते हुए शवों को अपने कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया।

वहीं घटना की जानकारी पर आगरा जोन के एडीजी अजय आनंद और आईजी संजीव गुप्ता भी मौके पर पहुंचे और उन्होंने एहतियातन सहावर कस्बे में भारी मात्रा में पुलिस फोर्स को तैनात कर खुलासे के छह टीमें लगा। डकैती की वारदात सहावर थाना कस्बे के रेलवे रोड के सामने नबी नगर में घटित हुई।

आसपास के लोगों के मुताबिक कल 11 मई की सुबह तड़के तीन बजे के बाद डकैत बलवंत सिंह के मकान में घुस गए। सरिया और चाकू से प्रहार कर परिवार के रामदास के अलावा वृद्धा चम्पादेवी और माया देवी की निर्मम हत्या कर दी गई, जबकि राजकुमार, अजय, आरती गंभीर रूप से घायल हो गए। उन्हें पुलिस द्वारा उपचार के लिए भर्ती कराया गया।

घटना के बाद आक्रोशित भीड़ के साथ परिजनों ने तीनों शवों को मेन चौराहे पर रखकर जाम लगा दिया। सूचना पर पहुंचे सीओ का घेराव आक्रोशित भीड़ ने लाठियों से किया। उनकी गाड़ी पर पथराव कर दिया। जिससे सीओ की गाड़ी भी क्षतिग्रस्त हो गई। बेकाबू भीड़ ने एक निजी चैनल के एक पत्रकार की पिटाई कर दी अन्य मीडियों कर्मियों की आईडी तोड़कर पथराव कर दिया।

शव रखकर मांग कर रही महिला ने राजकुमारी ने बताया कि सुबह उसका बेटा गया तो तीनों लहुलूहान अवस्था में पडे मिले थे। वह डकैतो को गिरफ्तार कर खुलासा किया जाये। बदमाशों उसके घर में रखी नकदी जेवरात लेकर फरार हो गये।

पुलिस ने हंगामें के बाद भीड़ को हलका बल प्रयोग कर दौड़ दिया और हवाई फायरिंग और आंसू गैस के गोले दागते हुए शवों को अपने कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया है। वहीं सहावर थानाध्यक्ष रविन्द्र बहादुर सिंह का पारा सातवें आसमान पर पहुंच गया। उन्होंने मृतक रामदास की पत्नी की हेलमेंट से पिटाई कर दी। जिससे महिला का सिर फूट गया

उधर घटना वर्कआउट करने को लेकर एडीजी अजय आनंद, आईजी संजीव गुप्ता ने भी कासगंज डीएम, एसपी के साथ घटना स्थल को दौरा किया। जहां उन्होंने कस्बे में तनाव की स्थिति को देखते हुए बड़ी संख्या में पुलिस फोर्स को तैनात कर दिया है, वहीं उन्होंने बेहद गंभीर और दुखद घटना को बताया है।

उन्होंने खुलासे के लिए एसटीएफ को भी लगाया गया, जितने भी जौन के सुराग रसी करने वाले इंस्पेक्टरों की छह टीम को गठित कर दिया है, जोकि खुलासा न होने तक टीमें यहीं रोकेंगी। उन्होंने इस डकैती हत्याकांड के घटना के पीछे साफ तौर बताया कि घुमंतो लोगों का हाथ भी हो सकता है। फिलहाल अभी पूरी तरह पुष्टि नहीं हैं, जल्द ही घटना का खुलासा किया जायेगा।

जनपक्षधर पत्रकारिता को सक्षम और स्वतंत्र बनाने के लिए आर्थिक सहयोग दें। जनज्वार किसी भी ऐसे स्रोत से आर्थिक मदद नहीं लेता जो संपादकीय स्वतंत्रता को बाधित करे।
Posted On : 12 05 2018 11:16:46 AM

समाज