Last Update : 19 02 2018 10:52:10 AM

रोटोमैक का भगोड़ा मालिक दिखा दैनिक जागरण के मालिक की बेटी की शादी में

837 करोड़ का आरोपी पहुंचा दैनिक जागरण के मालिक की बेटी की शादी में जहां पहुंचे थे सीएम आदित्यनाथ, डिप्टी सीएम और बिहार के डिप्टी सीएम समेत कई और प्रशासनिक अधिकारी 

एक ओर सीबीआई 837 करोड़ के बैंक लोन न देने वाले कोठारी के ठिकानों पर छापे मार रही है और दूसरी तरफ वह  बड़े—बड़े लोगों के बीच दावत उड़ा रहा है,  सवाल है कि क्या यही है रामराज्य 

कानपुर। इन दिनों बैंक स्कैम की खबरें मीडिया में छाई हुई हैं। देश को हजारों करोड़ों रुपए का चूना लगाकर ये लोग फरार हो चुके हैं। इन्हीं में से एक विक्रम कोठारी जो रोटोमैक कंपनी का मालिक है, उसे भी भगोड़ा घोषित किया जा चुका है। उसने तकरीबन 800 करोड़ रुपए का बैंक घोटाला किया है।

संबंधित खबर : ये रहे वो 30 बैंक जिनके पैसे लेकर भाग गया नीरव मोदी

कहा जा रहा था कि विक्रम कोठारी देश छोड़कर भाग चुका है, मगर कल 18 फरवरी को वह देश के प्रतिष्ठित मीडिया संस्थान दैनिक जागरण के मालिक की बेटी की शादी में दिखाई दिया, उसके शादी समारोह में शामिल होने की फुटेज मीडिया में दिखने लगी हैं।

संबंधित खबर : देखती रह गयी मोदी सरकार, विजय माल्या के बाद अब नीरव मोदी भी भाग गया देश छोड़कर

समाचार एजेंसी एएनआई ने जानकारी साझा की है कि रोटोमैक पेन कंपनी का मालिक विक्रम कोठारी कल कानपुर में जागरण ग्रुप के मालिक संजीव गुप्ता की बेटी की शादी में शामिल होने पहुंचा था।'

ये भी पढ़ें — फेंकूलॉजी : देश चाह रहा नीरव मोदी पर चर्चा लेकिन मोदी कर रहे परीक्षा पर परिचर्चा

जहां शासन—प्रशासन उसे भगोड़ा घोषित कर चुका है, वहीं उसका एक बड़े मीडिया घराने की शादी में पहुंचना, वो भी जहां मुख्यमंत्री—उपमुख्यमंत्री समेत तमाम बड़े—बड़े नेता—मंत्री पधारने वाले हों, हमारे देश में इन फ्रॉडियों, मीडिया और नेताओं के गठजोड़ को दिखाता है।

संबंधित खबर : कांग्रेस के समय नहीं पिछले साल मोदी सरकार में मिला नीरव मोदी को 11 हजार करोड़ का लोन

हालांकि कल 18 फरवरी को उसने बयान जारी कर कहा कि वह कानपुर में ही है, देश छोड़कर भागा नहीं है। कोठारी रोटोमैक ग्लोबल प्राइवेट लिमिटेड का चेयरमैन और एमडी है। उसने इलाहाबाद बैंक, बैंक ऑफ इंडिया, बैंक ऑफ बड़ोदा, इंडियन ओरवसीज बैंक और यूनियन बैंक ऑफ इंडिया के 800 करोड़ रुपए का लोन नहीं चुकाया है।

यह भी पढ़ें — खुलासा : प्रधानमंत्री मोदी से दाओस में हुई थी भगोड़े नीरव मोदी की गुप्त मुलाकात

अमर उजाला में छपी खबर के मुताबिक यूनियन बैंक ऑफ इंडिया और इलाहाबाद बैंक के सूत्रों का कहना है कि कोठारी ने लोन ली गई राशि का ब्याज तक नहीं दिया है। बैंक के अंदरुनी सूत्रों के मुताबिक कोठारी को लोन देने के लिए नियमों के साथ समझौता किया गया है।

यह भी पढ़ें— नया खुलासा : पंजाब नेशनल बैंक से भी बड़ी लूट गुजरात में, 5 पूंजीपतियों ने किया 26 हजार 500 करोड़ का नया बैंक घोटाला

जनपक्षधर पत्रकारिता को सक्षम और स्वतंत्र बनाने के लिए आर्थिक सहयोग दें। जनज्वार किसी भी ऐसे स्रोत से आर्थिक मदद नहीं लेता जो संपादकीय स्वतंत्रता को बाधित करे।
Posted On : 19 02 2018 10:36:07 AM

राजनीति