Last Update : 09 01 2018 09:05:35 PM

देखिए उत्तराखण्ड में मंत्री के सामने जहर खाकर जान देने वाले प्रकाश पांडे का आखिरी वीडियो

कहा आजिज आकर हुआ हूं जहर खाकर आत्महत्या को मजबूर, राज्य की त्रिवेंद्र सरकार को ठहराया अपनी मौत के लिए जिम्मेदार...

हल्द्वानी। 6 जनवरी को जनता दर्शन कार्यक्रम में उत्तराखण्ड सरकार के कैबिनेट मंत्री सुबोध उनियाल जनता दर्शन कार्यक्रम में जहर खाने वाले प्रकाश पांडे की मौत हो गई है। देहरादून स्थित मैक्स हॉस्पिटल में इलाज के दौरान उनकी मौत हो गई।

जहर खाने के बाद उनका एक वीडियो सामने आया है, जिसमें वे अपनी तमाम समस्याएं बता रहे हैं। बता रहे हैं कि कैसे नोटबंदी और जीएसटी ने उन्हें तबाह कर दिया। यह भी कि कैसे मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत के ओएसडी उर्मादत्त भट्ट उन्हें पिछले 4—5 महीनों से मात्र आश्वासनों का पुलिंदा थमाते रहे।

एक बहुत ही जरूरी वीडियो जो नोटबंदी और जीएसटी की मार सह रहे छोटे व्यवसायियों और आम लोगों के दर्द को बयां करता है और यह भी कि कैसे इस हालातों में एक इंसान मौत को गले लगाने को मजबूर हुआ।

प्रकाश पांडे का जहर खाने के बाद का यह वीडियो सामने आने के बाद से उत्तराखण्ड की राजनीति और गर्मा गई है। बीजेपी से जुड़े लोग बीजेपी सरकार को इस मामले में घिरते देख उन्हें कांग्रेसी घोषित ठहरा इसे कांग्रेस प्रायोजित हत्या ठहराने की कोशिश कर रहे हैं। वीडियो में प्रकाश पांडे वीरेंद्र को संबोधित कर अपना मैसेज छोड़ रहे हैं। चूंकि कांग्रेसी नेता इंदिरा हृदयेश के एक करीबी का नाम वीरेंद्र जग्गी है, इसलिए कह रहे हैं कि यह वीडियो उन्होंने उन्हींं को संबोधित किया गया है।

जबकि प्रकाश पांडे ने प्रांति उद्योग व्यापार मंडल के महामंत्री वीरेंद्र गुप्ता को संबोधित करते हुए व्यापार मंडल के ग्रुप पर अपना यह वीडियो भेजा था, क्योंकि उस ग्रुप के एडमिन वीरेंद्र गुप्ता ही हैं। उन्होंने जनज्वार से हुई बातचीत में स्वीकारा है कि प्रकाश पांडे व्यापार मंडल से जुड़े थे इसलिए उन्होंने ग्रुप पर उन्हीं को संबोधित करते हुए यह वीडियो भेजा है, न कि इंदिरा हृदयेश के करीबी वीरेंद्र जग्गी को। वैसे भी प्रकाश पांडे वीरेंद्र जग्गी नहीं सिर्फ वीरेंद्र के नाम से संबोधित कर रहे हैं।

देखिए नोटबंदी और भाजपा सरकार की लापरवाही की भेंट चढ़े प्रकाश पांडे का अंतिम वीडियो :

संबंधित खबरें :
उत्तराखण्ड में जहर खाकर मंत्री के सामने पहुंचे कारोबारी की मौत
उत्तराखण्ड में जहर खाकर मंत्री के सामने पहुंचा कारोबारी, कहा जीएसटी-नोटबंदी ने कर दिया है बर्बाद

जनपक्षधर पत्रकारिता को सक्षम और स्वतंत्र बनाने के लिए आर्थिक सहयोग दें। जनज्वार किसी भी ऐसे स्रोत से आर्थिक मदद नहीं लेता जो संपादकीय स्वतंत्रता को बाधित करे।
Posted On : 09 01 2018 07:59:59 PM

विविध